सेाशल मीडिया का दुरुपयोग, रहें ज़रा संभल के

0
266
SOCIAL MEDIA NEGATIVE EFFECTS AND MISUSE
सेाशल मीडिया का दायरा पूरी दुनिया तक फ़ैला है।

सेाशल मीडिया ने समाज के हर वर्ग में अपनी पैठ बना ली है। सेाशल मीडिया ने हर किसी को एक दूसरे से जोड़ दिया है, भारत की आधी से ज्यादा आबादी सेाशल मीडिया पर है। इसका इस्तेमाल दोस्ती करने से लेकर अपनी राय रखना और कई प्रकार की सूचनाओं का आदान- प्रदान करना भी है। लेकिन अब इसका इस्तेमाल गलत कामों को अंजाम देने के लिए भी किया जा रहा है।

आतंकी संगठन सेाशल मीडिया पर सक्रिय है-

इसका दायरा पूरी दुनिया तक फ़ैला है, यहाँ तक कि कई आतंकी संगठन सेाशल मीडिया पर सक्रिय है जो युवाओं का ब्रेन वाॅश कर उन्हें जुर्म की दुनिया में ढ़केलने का काम कर रहे है। कई युवा लड़के इसकी गिरफ़्त मे आकर अपनी ज़िंदगी तबाह कर चुके है। बीते महीनों में ऐसी कई खबरें सामने आई जहाँ सोशल मीडिया द्वारा लोग भटक जाते है और ग़लत रास्ते पर निकल जाते है।

दंगों को फैलाने में सोशल मीडिया का इस्तेमाल-

सोशल मीडिया पर जहां सबको बोलने की आज़ादी है वहीं सोशल मीडिया अफवाहों का सबसे बड़ा गढ़ है। बीते समय में सांप्रदायिक हिंसा, दंगों को फैलाने में, सोशल मीडिया के माध्‍यम का दुरुपयोग सामने आया। इससे बचने और सावधान रहने की जरूरत है क्‍योंकि बीते समय में इसके भयानक नतीजे सामने आ चुके हैं। कई बार गलत अफ़वाओं को वाइरल कर दिया जाता है जिसके कारण दंगे फ़साद तक हो जाते है। अब हाल ये है की गाय या सूअर के मांस से नहीं, सोशल मीडिया से भड़कने लगे हैं दंगे! लेकिन यहाँ हैरान करने वाली बात ये है कि आधे से ज़्यादा यानी की 70 प्रतिशत बातें केवल अफ़वाह होती है।

फ़ेक अकाउंट्स बनाकर धोखाधड़ी-

कई अपराधी फ़ेक अकाउंट्स बनाकर धोखाधड़ी करते है।आपको बहला फुसला कर कई बार आपकी गुप्त जानकारियाँ निकाल ली जाती है और आपको ब्लैकमेलिंग का शिकार होना पड़ता है।ऐसे कई केस सामने आ चुके है जिसमें सेाशल मीडिया में फैली गलत अफ़वाओं के कारण लोग गतफ़हमी का शिकार हुए है।

आज सेाशल मीडिया का सार्थक इस्तेमाल से ज्यादा गलत प्रयोग हो रहा है जिसे काबू कर पाना बेहद मुश्किल है। इससे बचने के लिए आपको खुद तो सतर्क रहना ही पड़ेगा साथ ही अपने आसपास वालों को भी इस विषय में जागरूक करना होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here