छुट्टी ना लेना जापान की महिला पत्रकार काे पड़ा भारी, गंवा दी जान

0
156
OVERTIME IN JOB
प्रतीकात्मक फोटो

जॅाब करना किसे नहीं पसंद होता है, और जॅाब में तरक्की हर कोई चाहता है और इस तरक्की के चक्कर में लोग अपनी सेहत की परवाह किये बिना ही घंटो काम करते रहते हैं फिर चाहे उन्हें अपनी जान ही जोखिम में क्यों ना डालनी पडें लेकिन क्या आपने सोचा है कि जॅाब जानलेवा भी बन सकती है शायद ऐसा सोचना मुश्किल होगा लेकिन एक बेहद चौकानें वाला मामला सामने आया है। जिसमें जापान में एक महिला पत्रकार की लगातार काम करने और एक भी अवकाश ना लेने की वजह से उसकी मौत हो गया है।

जिस महिला की जान गयी वह युवा महिला पत्रकार मिवा सादो एक निजी चैनल में पॉलिटिकल रिपोर्टर थी, एक महीने में उसे सिर्फ दो दिन की ही छुट्टी दी गई थी।

इतना ही नहीं पूरे महीने में उसने करीब 159 घंटे ओवरटाइम भी किया, बताया जा रहा है कि पत्रकार की मौत 2013 में हुई थी। लेकिन उनकी संस्था ने इसी हफ्ते उनके केस को सार्वजनिक किया है, एक रिपोर्ट के मुताबिक जापान नेशनल हेल्थ सर्विस की ओर से मामले में की गई जांच में मिवा सादो की मौत की वजह ओवर टाइम सामने आई है।

यह भी बताया गया है 31 वर्षीय मिवा की मौत कारोशी यानी अधिक काम करने के चलते हुई है और जब वह अपने चैनल की ओर से लोकल इलेक्शन कवर कर रही थी, इसके तीन दिन बाद ही उसकी हार्ट अटैक से मौत हो गयी है वाकई में यह बहुत दुखद मामला है क्योंकि कोई भी नौकरी हम अपने जिन्दगीं में सफलता और अपना नाम कमाने के लिये करते हैं लेकिन वही नौकरी हमारी जान ले सकती है यह बात शायद उस पत्रकार ने नहीं सोची होगी। वह तो अपना काम पूरी लगन से ही कर रही होगी।

ध्यान देने वाली बात यह है कि इससे पहले भी जापान में ओवरटाइम के कारण एडवरटाइजिंग एजेंसी में काम करने वाले शख्स की मौत हो गई थी, जब मामला सामने आया तो काम करने के तरीके को बदलने की मांग की गयी। एक सर्वे के मुताबिक जापान में 20 प्रतिशत वर्कफोर्स पर कारोशी के चलते मौत का खतरा है यहां ज्यादातर लोग 80 घंटे से अधिक तक का ओवरटाइम करते हैं। इस तरह की घटनायें यह साबित करती हैं कि आजकल लोग सफलता के पीछे इतना भाग रहे हैं कि उन्हें अपनी सेहत का भी ध्यान नहीं रहता है तो इसलिये काम उतना ही करिये जो कि आपकी सेहत पर असर ना डालें। क्योंकि अगर सेहत अच्छी है तो आप अपने काम में भी सफल होगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here