झड़ते बालों को रोकने के घरेलु नुस्खे

0
19
झड़ते बालों-को-रोकने-के-घरेलु-नुस्खे

बाल झड़ना एक बड़ी समस्या बन गई है लेकिन इसका समय से पहले इलाज करना  बहुत जरूरी होता है । क्योंकि आजकल लोगों की दिनचर्या और खान-पान इतनी बुरा हो गई है इसका सीधा असर बालों पर पड़ता है। ऊपर से प्रदूषण और हेयर प्रोडक्ट के केमिकल के कारण भी बालों पर असर पड़ता है, जो बाद में बालों के झड़ने का कारण बन जाता है। वैसे तो लोग बाल संबंधी किसी भी समस्या के लिए सबसे पहले घरेलू नुस्ख़ों को आजमाते हैं।

अगर आम कारणों से बाल झड़ रहे है तो घरेलू नुस्ख़े बहुत काम आते हैं। बालों को झड़ने से रोकने के उपाय यानि इलाज करने में जितनी देर होगी उतनी ही समस्या बढ़ेगी। असल में बालों के गिरने की समस्या को लोग पहले नजरअंदाज करते हैं, इसलिए सही समय पर इसका इलाज नहीं हो पाता है। बाल झड़ने से रोकने  के उपायों को जल्द जल्द से अपनाने की जरूरत होती है।

बालों का झड़ना 

  • आजकल बालों का झड़ना एक आम समस्या हो गई है। हर दूसरा व्यक्ति इस परेशानी से जूझ रहा है। कई लोगों के बाल समय से पहले इतने झड़ जाते है कि उन्हें हेयर ट्रांसप्लांट करवाकर इलाज  करना पड़ता है। बालों का झड़ना जब थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ने लगता है तो गंजेपन की नौबत आ जाती है। सामान्यत 50 से 100 बाल लगभग हर दिन टूटते-झड़ते है यदि इससे ज्यादा बाल झड़ते है तो ये गंजापन का विषय है। गंजेपन की अवस्था आने से पहले बालों का झड़ना रोकने के लिए घरेलू नुस्ख़ों का आजमाने से सही परिणाम मिलता है।
  • लेकिन क्या आपको पता है कि बालों का झड़ना या गंजापन दो तरह के होते हैं। ‍वैसे तो बाल गिरने की समस्या आम तौर पर 30 साल के बाद से शुरू हो जाती है। पुरुषों में इस समस्या को मेल पैटर्न बॉल्डनेस कहते है।
  • महिलाओं में को कहते है इस समस्या से पीड़ित महिलाओं में पूरे सिर के बाल कम हो जाते है पर हेयरलाइन पीछे नहीं हटती। महिलाओं में इसके कारण शायद ही कभी पूरी तरह गंजेपन की समस्या होती है।

बाल झड़ने के कारण

  • वर्तमान समय में बालों का झड़ना आम समस्या बन गया है इसके पीछे मुख्य कारण असंतुलित आहार योजना, गलत जीवनशैली या अनुवांशिक कारण हो सकते हैं।इसके अलावा आज के युवाओं में बाल झड़ने की समस्या का मुख्य कारण बाजार में उपलब्ध तरह-तरह के हेयर प्रोडक्ट के इस्तेमाल करने से भी  इस समस्या का मुख्य कारण है।आजकल के लड़के लड़कियां अपने आप को ज्यादा स्टाइलिश दिखाने के  लिए तरह-तरह के हेयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं, जिसके कारण बालों की जड़े कमजोर हो जाती है  और बाल समय से पहले ही झड़ने लगते है।
  • हार्मोन स्तर में अचानक बदलाव के बाद भी ये हो सकता है, विशेषकर स्त्रियों में शिशु को जन्म देने के बाद यह होता है।
  • दवाइयों के दुष्प्रभाव के कारण।
  • किसी बीमारी के लक्षण के रूप में भी बालों का झड़ना हो सकता है जैसे कि थायरॉयड, सेक्स हार्मोन में असंतुलन या गंभीर पोषाहार समस्या विशेषकर प्रोटीन, जिंक, बायोटीन की कमी। यह कमी खान-पान में परहेज करने वाले और महिलाओं में मासिक धर्म में बहुत ज्यादा रक्तस्राव होने पर होता है।
  • सिर की त्वचा में फफूंद से संक्रमण हो जाता है तो बीच-बीच में बाल झड़ते है।
  • वंशानुगत गंजापन या वंश में कोई गंजा है तो वह आनुवांशिकता के तौर पर मिल सकता है।
  • आयुर्वेद के अनुसार बाल झड़ने के और भी बहुत सारे कारण होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार वात के साथ मिला पित्त रोमकूपों में जाकर बालों को गिरा देता है तथा इसके अनन्तर रक्त के साथ मिला हुआ कफ रोमकूपों को बन्द कर देता है जिससे उस स्थान में दूसरे बाल पैदा नहीं होते है। इसके साथ बाल गिरने का एक कारण नहीं बल्कि कई कारण है,जैसे- नमक का अधिक सेवन करने से गंजापन आ जाता है। और तनाव, संक्रमण, हार्मोन असंतुलन, अपर्याप्त पोषण, विटामिन और पोषक पदार्थो की कमी, दवाओं के दुष्प्रभाव, लापरवाही बरतना या बालें की सही देखभाल न होना, गलत प्रकार के शैम्पू का प्रयोग भी होता है।
  • यहां तक कि विरुद्ध आहार-विहार, पित्त वर्धक आहार-विहार, आहार पर हीन, मिथ्या और अतियोग, निद्रा, ब्रह्मचर्य, प्रदूषित जल होता है। बाल झड़ने के कोई भी कारण हो, हर कारण में अगर सही घरेलू नुस्ख़े  को आजमाया गया तो नए बालों का विकास हो सकता है।
  • इसके अलावा आधुनिक विज्ञान के अनुसार बाल झड़ने के ये भी कारण हो सकते हैं-
  • फंगल इंफेक्शन
  • विटामिन ए का ओवरडोस
  • थॉयरायड
  • मनोवैज्ञानिक तनाव
  • रेडियोथेरेपी या केमोथ्रेपी
  • स्टेरॉयड का नियमित सेवन

बालों को झड़ने से रोकने के उपाय

  • अभी तक हमने बात की कि बाल क्यों झड़ते है लेकिन उनको झड़ने से रोका कैसे जाय, इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए। जैसे-जंक फूड का सेवन न करके फल एवं सब्जियों का अधिक सेवन करें। बाल झड़ने की समस्या से बचने के लिए खान-पान के साथ एक अच्छी जीवन शैली  को अपनाना भी जरुरी है।और पढ़ें – बालों का रूखापन कम करने के घरेलू उपाय
  • तनाव कम कर, उचित आहार लेकर, बाल संवारने की उचित तकनीक अपनाकर और यदि संभव हो तो बालों को झड़ने से रोकने वाली दवाइयों का उपयोग  कर बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है। दवाइयों की सहायता से वंशानुगत गंजेपन के कुछ मामलों को रोका जा सकता है।
  • अत्यधिक तनाव के कारण एक प्रदूषित वातावरण में रहने के कारण बाल झड़ते है। रात में जगना, अत्यधिक श्रम करना तथा रासायनिक उत्पादों से युक्त शैम्पू से बालों को धोने के लिए प्रयोग करना ये सब बाल झड़ने में कारक है। इसके लिए प्राणायाम एवं योगासनों को अपनी जीवनशैली में शामिल करें। योगासन एवं प्राणायाम करने से तनाव का स्तर कम होता है तथा बाल झड़ने कम हो जाते है। खाने में मौसमी फल का अधिक से अधिक प्रयोग करना, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, अंकुरित धान्य तथा सूखे मेंवों का सेवन करें। संतुलित आहार लेने से पोषक तत्वों की कमी नहीं आती जो कि बाल झड़ने के मुख्य कारणों में आता है।
  • स्त्रियों में गर्भावस्था के दौरान अथवा मेनोपॉज के बाद बाल झड़ने की समस्या देखी जाती है इसके लिए भी संतुलित आहार एवं तनावरहित जीवन शैली की आवश्यकता है। जीवनशैली में बदलाव लाने पर बालों का झड़ना कुछ हद तक रोका जा सकता है।

बालों का झड़ना रोकने के घरेलू उपाय 

1. प्याज का रसप्याज का रस झड़ते हुए बालों के लिए बहुत ही कारगर सिद्ध होता है। इसके लिए एक सफेद प्याज का रस निकाल कर बालों में अच्छी तरह मालिश करें। फिर 15 से 20 मिनट तक सिर को किसी कपड़े से ढक ले। 15,20 मिनट बाद बड़ों को शैंपू से अच्छे तरीके से धो लें। यह प्रक्रिया आपको हफ्ते में तीन बार करनी है। और इसका अच्छे परिणाम आपको कुछ ही दिनों में देखने को  मिलेंगे।

2. सरसों का तेल और कलौंजी इसके लिए आपको एक कांच की शीशी में सौ ग्राम सरसो के तेल में 25 से 30 ग्राम कलौंजी के बीज डालने हैं। फिर उस कांच की शीशी को 2 से 3 दिन के लिए एक सुरक्षित जगह पर रख दें। 2 या 3 दिनों के बाद तेल की मालिश सिर में सुबह शाम 5 से 10 मिनट तक करनी है। इससे आपके बालों के झड़ने की समस्या दूर हो जाएगी।

3. नींबू और शहददो चम्मच शहद में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर अपने बालों में हल्के हल्के हाथों से मालिश करें। 15 मिनट के बाद अपने सिर को अच्छे से धो ले।

4. दही अपने बालों को रोकने के लिए दही का इस्तेमाल करना भी लाभदायक सिद्ध होता है, इसके लिए आपको एक हफ्ते में से कम तीन बार अपने बालों को दही से धोना चाहिए। इसके लिए एक कटोरी में दही लेकर  उसे अपने बालों में अच्छे से लगाएं।

5. सूखे हुए आंवला को बारीक पीसकर पाउडर बना लें। या आप पाउडर  बाजार से खरीद सकते हैं। एक चम्मच आंवला पाउडर में एक चम्मच सरसों का तेल डालकर बेस्ट को अच्छे से मिला लेवे। फिर पेस्ट को 15 मिनट तक रख दे। 15 मिनट के बाद  पेस्ट को अपने बालों में लगाएं। नोट: जब भी यह घरेलू उपाय प्रयोग में लाते हैं तो आपको बालों के अन्य किसी प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना है। और आपको ज्यादा से ज्यादा सरसों तेल का ही उपयोग करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here