आर्गेनिक फूड्स होंगे अब और भी बेहतर, सरकार खुद कर रही है निगरानी

0
250
organic fruits-and-vegetables
आर्गेनिक फूड्स होंगे अब और भी बेहतर

जी हाँ अगर आप अब भी आर्गेनिक फूड्स की क्वालिटी को लेकर चिंतित है तो बेफिक्र हो जाइए, हाल ही में सरकार का FSSAI विभाग,एक ड्राफ्ट संसद में पेश करने जा रहा है, जिसका नाम “ड्राफ्ट फ़ूड सेफ्टी स्टैंडर्ड्स(फ़ूड सेफ्टी) रेगुलेशन,2017 है। जिसमे अधिसूचित किया गया है की देश में सभी आर्गेनिक फ़ूड के निर्माण,पैकिंग और बिक्री को सुरक्षित बनाया जाये साथ ही इनकी क्वालिटी का भी ख़ासा ध्यान रखा जाए।

आपको बता दे की भारत सरकार की ओर से दो विभागों द्वारा आर्गेनिक फूड्स की क्वालिटी पर नजर रखी जाती है-

  1. NPOP- नेशनल प्रोग्राम फॉर आर्गेनिक प्रोडक्शन:- यह कृषि उत्पादों के मटिरिअल पर ध्यान रखती है की किस किसान की भूमि पर,यह अनाज कैसे उपजाया गया है, यह आर्गेनिक फूड्स को निर्यात करने के लिए भी प्रमाणित करती है, यह विभाग केन्द्रीय वाणिज्य और उघोग मंत्रालय के अंतर्गत काम करता है।
  2. PGS-इंडिया-पार्टिसिपेट्री गारंटी सिस्टम फॉर इंडिया :- यह केवल किसानो की मदद के लिए होता है की वो कैसे आर्गेनिक फसलो का उत्पादन करे, साथ ही यह आर्गेनिक फूड्स के घरेलू वितरण के लिए जिम्मेदार होता है।

FSSAI क्या है?

भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI)| इसकी स्थापना 2006 में की गई थी, इसका उद्देश्य खाद्य सामग्री के मानकों को बनाना तथा खाद्य पदार्थों के निर्माण, भण्डारण, वितरण, विक्री तथा आयात आदि को नियन्त्रित करना है ताकि मानव-उपभोग के लिये सुरक्षित तथा सम्पूर्ण आहार हो सके।

यह भी पढ़े…पतंजलि उत्पादों दों को टक्कर देने की तैयारी में आईटीसी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here