सबसे ज़रूरी होता है आपके कमरे का इंटीरियर डिज़ाइन, क्या आपने ध्यान दिया इन ज़रूरी बातों पर?

0
445
home interior design
आपके घर की सजावट ऐसी होनी चाहिए जिससे आपकी आँखों को सुकून पहुँचे और आपका मूड फ्रेश हो।

कमरे का इंटीरियर डिज़ाइन आपके रिश्तों पर असर डालता है। आपके घर की सजावट ऐसी होनी चाहिए जिससे आपकी आँखों को सुकून पहुँचे और आपका मूड फ्रेश हो। इसलिए आज हम आपको विवाहित जोड़े के लिए बेडरूम तैयार कराने के दौरान कुछ खास टिप्स बताएँगे-

* कमरे में कपड़ों की अलमारी की व्यवस्था ज़रूर होनी चाहिए और उसमें ज़्यादा जगह होनी चाहिए।

* कमरे की दीवारों का रंग हल्का होना चाहिए, अगर हल्का रंग नहीं पसंद तो न्यूट्रल रंगों का चयन करें।

* कमरे के कोने में एक ड्रेसर होना चाहिए।

* दीवार पर कमरे की थीम से मिलती-जुलती एक दीवार घड़ी लगाएँ।

* दंपत्ति के सोने के लिए अच्छे गद्दे और कुशन होने चाहिए।

* कमरे में यादगार चीजों को सहेज कर रखें।

* रंगीन खुशबूदार मोमबत्तियाँ जलाने या यादगार तस्वीरों को रखने के लिए भी जगह होनी चाहिए।

ये तो आपने पढ़ा कि घर कि सजावट कैसी होनी चाहिए। पर इससे भी ज़्यादा ज़रूरी है कि नवविवाहित का कमरा वास्तु के हिसाब से हो, ताकि वैवाहिक जीवन में किसी भी तरह की कोई परेशानी न आए। कभी कभी ऐसा होता है शादी के बाद ही मनमुटाव शुरू हो जाता है। क्या आपने अभी सोचा है की वास्तु से इन समस्याओं का हल किया जा सकता है?

वास्तु एक प्राचीन ज्ञान है:-

decorate home by vaastu
सही वास्तु हमारे जीवन में खुशहाली और अनुकूलता ला सकता है।

सुखी विवाहित जीवन के लिए, घर में सुख और लक्ष्मी के लिए, परिवार में नकारात्मकता से छुटकारा पाने के लिए वास्तु शास्त्र का बहुत महत्व है। सही वास्तु हमारे जीवन में खुशहाली और अनुकूलता ला सकता है।

अगर आप भी हमेशा अपने जीवन में खुश और सकारात्मक रहना चाहते हैं तो ये वास्तु टिप्स ज़रूर फॉलो करें-

1. दीवार पर कभी सफ़ेद या लाल रंग नहीं लगाने चाहिए। गाढ़े रंग के मुक़ाबले हल्का रंग बेहतर होता है। हल्का गुलाबी या आसमानी रंग अच्छा प्रभाव छोड़ता है। घर में पॉज़िटिव ऊर्जा पैदा करता है। आपसी मतभेदों व झगड़ों को कम करने के लिए आप इन रंगों का प्रयोग पर्दे और बेडशीट के रूप में कर सकते हैं।

2. घर में दर्पण टूटा हुआ नहीं होना चाहिए।

3. कमरे का दूसरा महत्वपूर्ण हिस्सा वॉशरूम है। ध्यान रखें कि बाथरूम, पूजाघर, किचन सब आमने सामने न हो।
सुखी विवाहित जीवन के लिए ज़रूरी है कि धातु की बजाय लकड़ी के बेड को महत्व दें।

4. सोते समय अपना सिर दक्षिण और पैर उत्तर की तरफ़ रखें।

5. पत्नी को अपने पति के बाईं ओर सोना चाहिए। इससे आपस में प्रेम बढ़ता है।

6. टीवी या कम्प्यूटर आदि कमरे में बिल्कुल न रखें, अगर और हैं तो रात को सोते समय कपड़े से ढक दें।

7. कमरे के दरवाजे पर विंडचाईम लगाएँ, यह आपसी मिलाप बढ़ता है।

8. दम्पति के विवाह की तस्वीर कमरे में रखने से आपसी में प्रेम बढ़ता है।

9. फ़र्श को पोंछने के लिए पानी में थोड़ा सेंधा नमक मिलाएँ। घर में पानी के फव्वारे लगाने से धन में वृद्धि होती है।

10. दरवाज़ों के कब्जों में तेल डालती रहें। दरवाज़े खोलते या बंद करते समय होने वाली आवाज वास्तु के अनुसार अशुभ माना जाता है।

11. इसके अलावा बेडरूम में सभी सामान वास्तु के हिसाब से रखें जैसे- अलमारी शयन कक्ष के उत्तर पश्चिमी या दक्षिण की ओर होना चाहिए।

12. टीवी, हीटर और एयर कंडीशनर को दक्षिण पूर्वी के कोने में होने चाहिए
यदि आप तिजोरी बेड रूम में रखना चाहे तो उसे दक्षिण की दीवार के साथ रख सकते हैं, खुलते समय उसका मुंह धन की दिशा उत्तर की तरफ खुलना चाहिए।

13.  नव विवाहित का बेडरूम चौकोर होना चाहिए। सबसे ज़रूरी कमरे की सही दिशा का निर्णय करना ज़रूरी है। नवविवाहित दम्पति के लिए (उत्तर-पश्चिम) दिशा सबसे उत्तम है। वास्तु के प्राचीन ग्रंथों में यह दिशा आकर्षण एवं तृप्ति का स्थान रहा है। इस दिशा में कमरा होने से उनके आपसी संबंधों में अनुकूलता आती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here