आयुर्वेद से कैसे रखे दिमाग स्वस्थ जानिए

0
698
depression hypertension
डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है जो इंसान को अंदर से नुकसान पहुँचाती है। आजकल की जीवनशैली में लोगों का तनावग्रस्त होना आम होता जा रहा है।

डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है जो इंसान को अंदर से नुकसान पहुँचाती है। एलर्जी, अस्थमा, हाई कोलेस्ट्रॉल और हाइपरटेंशन जैसी समस्याएं डिप्रेशन से जन्म लेती हैं। डिप्रेशन से बचने के लिए बाजार में कई तरह की दवाएं मौजूद हैं। लेकिन इसके दुष्प्रभाव ज़्यादा है और ये शरीर को कई तरीक़ो से हानी पहुँचता है इसलिए आयुर्वेद के इस्तेमाल को सबसे बेहतर माना जाता है। आयुर्वेद नें हमें इतने सारी अलग अलग जड़ी बूटियां दी हैं, कि हमे अवसाद पर उपचार ढुंढने के लिए काफी दूर जाने की जरुरत नही हैं। ऐसी ही कुछ जडी बूटियों की एक सूची का उल्लेख नीचे की पंक्तियों में किया है, तो आइए, जानते हैं कि ऐसी कौन सी हर्बल युक्तियां हैं जो तनाव भगाने का काम करती है।

depression hypertension
डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है जो इंसान को अंदर से नुकसान पहुँचाती है। आजकल की जीवनशैली में लोगों का तनावग्रस्त होना आम होता जा रहा है।

अश्वगंधा

इस औषधि के प्रभाव से मन में नकारत्मक विचार आने बंद हो जाते हैं यह तनाव, और शारीरिक कमज़ोरी को दूर करने वाली औषधि है। अश्वगंधा आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में प्रयोग किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण पौधा है क्यूँकि अश्वगंधा एमीनो एसिड्स और विटामिन का बेहतरीन संयोजन है। यह दिमाग में एनर्जी को बूस्ट करने तथा स्टेमिना मजबूत करने में काफी मदद करता है।

ब्राह्मी

ब्राह्मी का एक पौधा होता है जो सदियों से भारत में दवाई के रूप में बीमारियों के इलाज के रूप में इस्‍तमाल की जा रही है। ब्राह्मी तनाव पैदा करने वाले हार्मोन कोर्टिसोल को कम करने का काम करता है। ब्राह्मी का इस्तेमाल गंभीर स्वास्थ्य समस्या तनाव और चिंता को दूर करने में किया जाता है। यह शरीर को शांत करके बेचैनी के पीछे के कारण घबराहट को दूर करता है।

जटामासी

जटामासी एक दिमाग को शांत करने वाली और एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी हैं।  तनाव भगाने के लिए इसकी  की जड़ों का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। यह जड़ें हमारे दिमाग और शरीर को टॉक्सिन्स से मुक्त बनाती हैं। यह जड़ी बूटी अवसादग्रस्तता की भावनाओं को मन से दूर करने में मदद करती हैं।

भृंगराज

भृंगराज एक औषधि है और इसकी  चाय दिमाग को निरंतर एनर्जी देने का काम करती है। इससे मस्तिष्क में रक्त प्रवाह दुरुस्त रहता है। यह दिमाग को शांत तो रखता ही है, साथ ही साथ पूरे शरीर को भी काफी आराम पहुंचाता है।

तुलसी पत्ता

भारतीय संस्कृति में इसे सभी पौधों में पवित्र माना जाता है। तनाव से आजकल हर कोई परेशानी है लेकिन तुलसी में ऐसे कंपाउंड्स हैं जो तनाव को काम करते हैं। तुलसी के बीजों से लेकर पत्तों तक, हर चीज़ का इस्तेमाल किया जाता है। आप तुलसी के पत्तों का सेवन करना शुरू करें इससे धीरे-धीरे आपका स्ट्रेस लेवल कम होता जाएगा।आप तुलसी के पत्तों को सीधे पानी के साथ ले सकते हैं या फिर आप तुलसी के पत्तों को चबा भी सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here