शुभ दीपावली – मां लक्ष्मी पूजन विधि और सामाग्री

0
395
DIWALI 2017
शुभ दीपावली

दीपावली में मां लक्ष्मी और भगवान श्री गणेश के पूजन का विशेष महत्व है और शास्त्रों के अनुसार अगर विधिवत् तरीके से और सच्चे मन से पूजन किया जाये तो पूजा का फल दोगुना मिलता है। मां लक्ष्मी धन की देवी कहलाती है और साथ ही भगवान गणेश विघ्नों को नाश करने वालें हैं। आइये जानते हैं महालक्ष्मी पूजन विधि और सामाग्री-

पूजन सामाग्री

कलावा, रोली, सिंदूर, एक नारियल, अक्षत, लाल वस्त्र , फूल, पांच सुपारी, लौंग, पान के पत्ते, घी, कलश, कलश हेतु आम का पल्लव, चौकी, समिधा, हवन कुण्ड, हवन सामग्री, कमल गट्टे, पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद, गंगाजल), फल, बताशे, मिठाईयां, पूजा में बैठने हेतु आसन, हल्दी, अगरबत्ती, कुमकुम, इत्र, दीपक, रूई, आरती की थाली। कुशा, रक्त चंदन, श्रीखंड चंदन।

पूजन विधि

ज्योतिषों के अनुसार पूजन शुरू करने से पहले गणेश लक्ष्मी के विराजने के स्थान पर रंगोली बनाएं। जिस चौकी पर पूजन कर रहे हैं उसके चारों कोने पर एक-एक दीपक जलाएं। इसके बाद प्रतिमा स्थापित करने वाले स्थान पर कच्चे चावल रखें फिर गणेश और लक्ष्मी की प्रतिमा को विराजमान करें। इस दिन लक्ष्मी, गणेश के साथ कुबेर, सरस्वती एवं काली माता की पूजा का भी विधान है अगर इनकी मूर्ति हो तो उन्हें भी पूजन स्थल पर विराजमान करें। ऐसी मान्यता है कि भगवान विष्णु की पूजा के बिना देवी लक्ष्मी की पूजा अधूरी रहती है। इसलिए भगवान विष्णु के बांयी ओर रखकर देवी लक्ष्मी की पूजा करें।

नियमानुसार सबसे पहले गणेश जी की पूजा करें। हाथ में फूल लेकर गणेश जी का ध्यान करें। मंत्र का जाप करें और समस्त जगत और घर परिवार की कामना करते हुये ध्यान करें उसके बाद नियमानुसार मां लक्ष्मी का पूजन करें और मंत्र का जाप करें, प्रसाद का भोग लगायें देशी घी के दिये जलायें,समस्त देवी देवाताओं का आह्रान करते हुयें कथा पढें और परिवार के सारे सदस्य मिलकर आरती करें और सबकी मंगलकामना करते हुये घर के हर कोने में दियें जलायें साथ ही मां तुलसी के पास दिया अवश्य रखें, अंधकार को दूर भगायें सभी जीवन में प्रकाश लायें और दीवाली का यह पावन त्यौहार मनायें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here