दिल्ली में प्रदूषण पहुँचा रेड ज़ोन के पार, EPCA ने जारी किए निर्देश

0
338
pollution in delhipollution in delhi
दिल्ली का प्रदूषण ख़तरनाक स्तर पर पहुँच गया है

पिछले कुछ महीनों में दिल्ली का प्रदूषण सामान्य और खराब स्तर से बहुत खराब और खतरनाक स्तर तक पहुंच चुका है। अब प्रदूषण इस हद तक इमरजेंसी के स्तर पर पहुंच चुका है कि प्रशासन ने आपातकालीन कदम उठाते हुए कई चीज़ों पर बैन लगा दिया है। दिवाली के पहले ही दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर रेड जोन को पार कर गया हैं। EPCA ने बेहद खराब स्थिति में पहुंचे प्रदूषण को कम करने के लिए ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (जीआरएपी) के तहत कुछ आपात कदमों को लागू कर दिया है।

शादी मे जेनरेटर नहीं चलेगा

शादी का सीज़न शुरू हो चुका है और दिल्ली में डीजल से चलने वाले जनरेटर सेट भी बंद कर दिये गए हैं। जनरेटरों का इस्तेमाल अनिवार्य सेवाओं जैसे कि अस्पताल के लिए ही किया जा सकता है।

बदरपुर थर्मल प्लांट को किया गया बंद

बदरपुर स्थित थर्मल पावर प्लांट बंद कर दिया गया है। यह अगले साल 15 मार्च तक बंद रहेगा। पर्यावरण प्रदूषण प्रिवेंशन और कंट्रोल अथॉरिटी ने कहा है कि 20 जुलाई 2018 को यह प्लांट हमेशा के लिए बंद कर दिया जाएगा। इससे पहले भी इस प्लांट को कई बार बंद किया गया है।

एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग केंद्रों की संख्या बढाने पर विचार

दिल्ली में 10 साल से ज्यादा पुराने ट्रकों पर रोक और पेनल्टी पर ध्यान दिया जाएगा। एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग केंद्रों की संख्या बढ़ाने और उनकी आपस में नेटवर्किंग बढाने पर भी ध्यान दिया जाएगा। ऐसा निर्देश दिल्ली में बढ़ते पॉल्यूशन को देखते हुए दिया गया है।

ध्वनि प्रदूषण फैलाने पर जुर्माना

डीटीआईडीसी के ऑर्डर के अनुसार, बस स्टैंड पर हॉर्न बजाने पर 500 रुपये का जुर्माना वसूला जाएगा। वहीं कंडक्टर ने पैंसेंजर बुलाने के लिए ज़्यादा ज़ोर से आवाज लगाई तो उसे 100 रुपये देने होंगे।

जिग जैग टेक्नॉलॉजी का इस्तेमाल ना करने वाली भट्टियाँ भी बंद होंगी

एनसीआर में जिग जैग टेक्नोलॉजी (इससे साफ हवा बाहर निकलती है) का इस्तेमाल ना करने वाले ईंट के भट्ठे भी बंद कर दिये जाएंगे।

साल 2016 में प्रदूषण का प्रकोप
POLLUTION MEASUREMENT
पिछले नवंबर में धुंध का स्तर

पिछली बार 2016 में दिवाली के अगले दिन आसमान धुंध की चादर में छिप गया था। हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में धान की पराली जलाने की वजह से दिल्ली में प्रदूषण के सारे रिकॉर्ड टूट गए थे। यहाँ तक कि दिल्ली सरकार ने कई दिन तक स्कूल भी बंद कर दिए थे। पिछले हालातों को देखते हुए इस बार सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा कदम उठाया और दीवाली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी। इस कड़े कदम के बाद अब जनरेटर और ध्वनि प्रदूषण को लेकर कदम उठाए गये हैं।

एयर क्वालिटी इंडेक्स और श्रेणियां (क्यूबिक मीटर में)
Air Quality Index
एयर क्वालिटी इंडेक्स

PM 2.5 PM 10
POOR 91-120 251-350
VERY POOR 121-250 351-430
SEVERE 250-300 430+500
SEVERE+ 300+ 500

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here