गौरी लंकेश मर्डर-अमेरिकी दूतावास ने भी की निंदा, दिया ये बयान

0
218
Senior journalist Gauri Lankesh shot dead in her home in Bengaluru,
कर्नाटक के बेंगलुरु की वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश ।

बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की अमेरिका ने आलोचना की है। नई दिल्ली के अमेरिकी दूतावास की ओर से जारी बयान में प्रेस की आजादी का हवाला देते हुये इस हत्या को निंदनीय बताया है। ” इसमें कहा गया है, “हम सुश्री लंकेश के परिवार, मित्रों व सहयोगियों के साथ संवेदना प्रकट करते हैं।”

लंकेश (55) की तीन अज्ञात हमलावरों ने उस समय गोली मारकर हत्या कर दी, जब वह अपने कार्यालय से घर लौटी थीं।

गौरी लंकेश साप्ताहिक मैग्जीन ‘लंकेश पत्रिके’ की संपादक थीं। इसके साथ ही वो अखबारों में कॉलम भी लिखती थीं।टीवी न्यूज चैनल डिबेट्स में भी वो एक्टिविस्ट के तौर पर शामिल होती थीं।लंकेश के दक्षिणपंथी संगठनों से वैचारिक मतभेद थे।

गौरी लंकेश के आखिरी ट्वीट्स

//platform.twitter.com/widgets.js

 

इस हत्या के बाद अनेक जगहों पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। इसे अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला करार दिया गया है। इसे कलबुर्गी, गोविंद पानसरे और नरेंद्र दाभोलकर की हत्या से जोड़ा जा रहा है।सोशल मीडिया में भी लोग घटना की निंदा कर रहे हैं। स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव ने इस घटना को पनसारे और कलबुर्गी से जोड़कर देखा। वर्ष 2015 में कर्नाटक के धारवाड़ में इसी तरह के एक अन्य मामले में साहित्यकार एमएम कलबुर्गी की उनके घर पर ही हत्या कर दी गई थी। 2015 में ही सामाजिक कार्यकर्ता गोविंद पनसारे की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उनकी पत्नी को भी हमलावरों ने निशाना बनाया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here