पंजाब में जियो के समझ लोगों ने तोड डालें कनाडा कंपनी के टावर, अब कनाडा वाले पंजाबियों के साथ क्या करेंगे

0
1334

किसान आंदोलन की आड में पंजाब के लोगों ने 1600 मोबाइल टावर्स को ध्वस्त कर दिया ।उनकी बिजली कनेक्शन काट दिए और उनके जरनैटर उखाड़ दिए गए। कई स्थानों पर तो मोबाइल टॉवर्स के जनरेटर को चोरी कर लिया गया जिसके कारण टावर पूरी तरह से बंद हो गए और पंजाब में दूरसंचार सेवा पूरी तरह से लड़खड़ा गई । लोगों ने इन टावरों को इसलिए तोड़ा था क्योंकि वह सोच रहे थे यह सब टावर जियो के मालिक मुकेश अंबानी के हैं, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि कुछ समय पहले मुकेश अंबानी ने इन टावरों को ब्रुकफील्ड नामक एक कनाडाई कंपनी को बेच दिया था।

मुकेश अंबानी ने इन टावरों को 25215 करोड रुपए में कनाडाई कंपनी को बेचा था। विपक्ष और बाहरी ताकतों के कहने पर किसानों ने जानबूझकर अंबानी को अपना निशाना बनाया। वह सोचते हैं अगर अंबानी को निशाना बनाया जाएगा तो मोदी दौड़ते हुए सिंघु बॉर्डर या दिल्ली के अन्य धरना स्थलों पर पहुंचेंगे और नए आए तीनों किसी कानूनों को वापस ले लेंगे।

अगर बात की जाए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुरुआत में खुद इन शरारती तत्वों को बढ़ावा दिया था लेकिन अब यह पंजाब को ही नुकसान पहुंचा रहे हैं ।कनाडा में बहुत ज्यादा पंजाबी नौकरी करते हैं । इसका सीधा सीधा असर अब उन पर पड़ सकता है। कनाडा की सरकार किसी तरह का प्रतिबंध या अन्य किसी वजह से वहाँ रहने वाले पंजाबियों को परेशान कर सकती है, या फिर हो सकता है कि वह पंजाब से आने वाले लोगों पर ही रोक लगा दे। लेकिन इन घटनाओं के बाद इतना तो स्पष्ट हो चुका है कि जो यह प्रदर्शनकारी तोड़फोड़ कर रहे हैं यह किसान तो हो नहीं सकते। किसानों के मसीहा बन बैठे राकेश टिकट भी बुरी तरह से फंसे हुए हैं ।

ब्राह्मण और मंदिरों के खिलाफ बोलना उन पर भारी पड़ गया अब वो सरकार से अपनी जान बचाने के लिए सुरक्षा मांग रहे हैं ।विपक्ष के बहकावे में आकर जब तो राकेश टिकैत ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाया । लेकिन जब लोगों ने इसका विरोध किया तो वह सरकार के सामने हाथ पैर जोड़ रहे है । इतना ही नहीं खुद प्रदर्शन कर रहे किसानों ने राकेश टिकैत को आड़े हाथों लिया है जिसके चलते राकेश टिकैत का कहना है कि उनकी जान को खतरा है सरकार ने सुरक्षा प्रदान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here