NGT के आदेश का उल्लंघन क्या DU, DUSU, UGC को पड़ेगा भारी

0
178
DU DUSU elections posters put against NGT

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के चुनावों का प्रचार -प्रसार जोर शोर से हो रहा है ,ये चुनाव 18 सितम्बर 2017 को होने वाले है।
लेकिन NGT ने चुनाव में होने वाली कागज की बर्बादी पर DU, DUSU, UGC को नोटिस भेजते हुए जवाब माँगा, क्योंकि NGT ने 18 जुलाई 2016 को एक आदेश दिया था, कि किसी भी चुनाव में कागज़ का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा और न ही क़िसी भी तरह की पब्लिक प्रोपेर्टी पर प्रचार के लिये पोस्टर नहीं लगाए जाएंगे ,फिर उस आदेश का पालन क्यों नहीं हुआ ,इसके बाबजूद दक्षिण परिसर ,उत्तर परिसर की दीवार पर ,मेट्रो स्टेशन पर प्रचार के पोस्टर ने NGT के आदेश की खिल्लियां उड़ा कर रख दीं
लेकिन NGT ने चुनाव में होने वाली कागज की बर्बादी पर DU, DUSU, UGC को नोटिस भेजते हुए जवाब माँगा ,क्योंकि NGT ने 18 जुलाई 2016 को एक आदेश दिया था, कि किसी भी चुनाव में कागज़ का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा और न ही क़िसी भी तरह की पब्लिक प्रोपेर्टी पर प्रचार के लिये पोस्टर नहीं लगाए जाएंगे ,फिर उस आदेश का पालन क्यों नहीं हुआ ,इसके बाबजूद दक्षिण परिसर ,उत्तर परिसर की दीवार पर ,मेट्रो स्टेशन पर प्रचार के पोस्टर ने NGT के आदेश की खिल्लियां उड़ा कर रख दीं है
दिल्ली विश्वविद्यालय मे
दिल्ली विश्वविद्यालय में ही वकालत पढ़ने वाले नितिन चंद्रन ने वकील पीयूष सिंह कासना के माध्यम से याचिका दायर करवाई है ,इस याचिका में बताया है , कि पिछले साल की तरह ही DUSU चुनाव में उम्मीदवारों के नाम और बैलेट नम्बर वाले पर्चों को बहुत अधिक संख्या में बांट रहा है और ये सार्वजनिक दीवारों पर चिपकाए जा रहें हैं , प्रत्येक उम्मीदवार लाखों का खर्चा कर रहा है और उसके साथ ही कागज़ की बर्बादी भी कर रहा है , जबकि किसी भी चुनाव में , DUSU के किसी भी चुनावों में पांच हज़ार से ज्यादा रुपये खर्च करने की इजाज़त नहीं है ,और नहीं कागज़ का ऐसे दुरुपयोग निर्देश के प्रतिकूल है ।
NGT ने पहले ही कागज की बर्बादी को रोकने के लिए पिछले साल यह आदेश जारी किया था ,कि अगर दिए गए आदेश का पालन नहीं किया गया तो , उसकी उम्मीदवारी ख़ारिज कर दी जायेगी। इसके अलावा NGT ने दिल्ली विश्वविद्यालय और यूजीसी को एक कमेटी बना कर ये गाइडलाइन्स जारी भी की थी ,लेकिन इन गाइडलाइन्स को व्यवहार में कितना अपनाया गया है इसका पता तो कल होने वाली सुनवाई में पता चलेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here