रिटायर्ड वैज्ञानिक की संदिग्ध हालात में मौत, मिली सड़ी-गली लाश

1
226
PUSA SCIENTIST DEAD BODY FOUND IN HIS HOME
वैज्ञानिक का नाम यशवीर सूद था जिनकी उम्र 64 साल थी।

दिल्ली के डेसू नाम की एक कॉलोनी में रिटायर्ड वैज्ञानिक की सड़ी हुई लाश मिलने से चारों तरफ़ सनसनी मच गई। पुलिस वालों के हिसाब से लाश 8 या 10 दिन पुरानी हो सकती ह। इसी बीच चौकाने वाली बात सामने आई की मृतक साइंटिस्ट के भाई- बहन शव के साथ 10 दिन तक एक ही छत के नीचे रह रहे थे।

वैज्ञानिक का नाम यशवीर सूद था जिनकी उम्र 64 साल थी और वो पूसा इंस्टीट्यूट में न्यूक्लियर साइंस डिपार्टमेंट में प्रिंसिपल वैज्ञानिक थे। पुलिस ने ये जानकारी दी कि फ़ील्ड ऑफिसर सोनू को डेसू कॉलोनी के बी-1 क्वॉर्टर से काफ़ी तेज बदबू आई। उन्हें लगा की शायद कोई अनहोनी हुई होगी इसलिए उन्होने तुरंत पुलिस को सूचना दी।

जब पुलिस वहाँ पहुँची तो दुर्गंध इतनी तेज़ थी की साँस तक लेने मे दिक्कत हो रही थी। पुलिस ने घर में घुसने से पहले घर की विंडो का कुछ हिस्सा तोड़कर स्प्रे छिड़का और फिर पुलिसकर्मी घर के अंदर दाखिल हो पाए। उसी वक्त वैज्ञानिक की बहन ने पुलिस का अंदर आने का विरोध शुरू कर दिया। लेकिन पुलिस के आगे उनकी एक ना चली।

पुलिस जैसे ही अंदर पहुँची वहाँ का नज़ारा देख कर सबके होश उड़ गये। वैज्ञानिक सूद का शव कमरे में बिस्तर पर पड़ा था। शव पर से खाल गायब हो चुकी थी। शव की हालत देख कर ये लग रहा था कि शव को शायद कीड़े-मकोड़े ने भी खाया हो।

घर के अंदर बहुत गंदगी फैली थी। ऐसा लग रहा था कि मानो महीनों से घर की कोई सफ़ाई नहीं हुई है। पुलिस ने कहा कि सूद की बड़ी बहन कमला और छोटा भाई हरीश मानसिक रूप से कमज़ोर है। पुलिस ने उनका इलाज कराने के लिए नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली स्थित एक सेंटर में दाखिल कराया है। पुलिस सूद के अन्य परिजनों के बारे में पता लगा रही है और आगे की जाँच शुरू कर रही है।

सूद 31 मार्च, 2015 को इंस्टीट्यूट से रिटायर हुए थे।

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here