एक ऐसी पहेली जिसे सिर्फ इंसान सुलझा सकता है पर कंप्यूटर नहीं !

0
475
एट क्वीन चैलेंज
एट क्वीन चैलेंज

ऐसे तो हमने सुना है कि कंप्यूटर से ज्यादा तेज़ इस दुनिया में कुछ नहीं पर कंप्यूटर का अविष्कार करने वाला भी तो एक इंसान है| कुछ ऐसी ही चीज़ आजकल चर्चा में आयी है की चैस जैसे खेल में एक ऐसा छल है जिसे सिर्फ इंसान सुलझा सकता है कंप्यूटर नहीं हम बात कर रहे है आजकल चर्चा में आया हुआ ‘एट क्वीन चैलेंज।

1850 के दशक में आविष्कार, क्वीन के पहेली ने मूल रूप से एक खिलाड़ी को एक मानक शतरंज पर आठ रानियों  को रखने के लिए चुनौती दी ताकि प्रत्येक दो रानी एक दूसरे पर हमला कर सके।ये चुनौती सिर्फ इंसानों के लिए बनाई है कोई भी दूसरी चीज़ इसको सुलझाने में नाकाम हुई है।

eight queen challenge
एट क्वीन चैलेंज

कैसे सुलझाए ये चुनौती ?

प्रत्येक पंक्ति में एक रानी रखो, ताकि दो पंक्तियाँ एक ही स्तंभ में हों और कोई भी दो रानियां एक ही विकर्ण में नहीं हो 8 x 8 बोर्ड पर आठ क्एन्स की 4,426,165,368 संभव व्यवस्था के 92 समाधान हैं लेकिन, समस्या ने गणितज्ञों के लिए एक जटिल चुनौती प्रस्तुत की है, खासकर जब बोर्ड 8 x 8 आकार का एक होता है। हाल ही में ब्रिटेन के सेंट अन्द्रूस विश्वविधालय ने सबको चुनौती दी है की अगर कोई भी शक़्स एक ऐसी एप्लीकेशन बनाएगा जो इस चुनौती का समाधान ढुंडके बताएगा उसे १ मिलियन डॉलर्स से सम्मानित किया जाएगा

आखिर क्यों कोई चीज़ इसे सुलझाने में नाकाम हुई है ?

कम्प्यूटर हर संभव क्रमचय के माध्यम से चला जाता है, व्यवस्थित रूप से। संयोजन की कुल संख्या एक बड़ी संख्या तक पहुंच सकती है।एक उदाहरण के तौर पर , एक कंप्यूटर 2.34 क्वाड्रिल संभव समाधान दे सकता है, या 234,000,000,000,000,000,000 जो कंप्यूटर को और भी भ्रमित कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here