अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन हुयी साइबर हमले का शिकार

0
110

साइबर हमले ने एक बार फिर सनसनी मचा दी है, इस बार साइबर हमले का शिकार हुयी हैं, अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन। खबरों के मुताबिक हिलेरी क्लिंटन एक वेबसाइट का समर्थन करने के बाद वह साइबर हमले का शिकार हो गईं। यह वेबसाइट कथित तौर पर हिलेरी के राजनीतिक समर्थकों के लिए एक सोशल मीडिया मंच बनने के प्रयास के तहत शुरू की गई है।

इस बात की जानकारी हिलेरी ने खुद ट्वीट करके दी, हिलेरी ने कहा कि ‘मैं वेरिट के साथ जुड़कर उत्साहित महसूस कर रही हूं, मेरे 6.58 करोड़ समर्थकों के लिए सोशल मीडिया मंच! क्या आप मेरे साथ जुड़ना चाहेंगे.’ उनकी इस जानकारी के बाद वेरिट ने काम करना बंद कर दिया, और ऐसा साइबर हमले की वजह से हुआ है।

वेबसाइट के निर्माता पीटर डाऊ ने कहा कि उन्होंने क्लिंटन के सपोर्टर्स के लिए एक ऑनलाइन मंच बनाने के प्रयास के तहत वेरिट की शुरुआत की गई, ताकि वे आसानी से साझा तथ्यों, आंकड़ों और जानकारियों को प्राप्त कर सकें,क्लिंटन के ट्वीट में 6.58 करोड़ का मतबल 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में उन्हें मिले कुल वोटों की संख्या है,

देखा जाये तो इन दिनों कई तरह के वायरस तेजी से फैल रहे हैं, जिसमें एक नए तरह का लॉकी रैन्समवयेर तेजी से फैल रहा है, यह ऐसा है जो आसानी से पकड़ में भी नहीं आता है, इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स (CERT-In) ने अपनी वेबसाइट पर एक अलर्ट जारी किया है, इसमें बताया गया है कि यह लॉकी रैन्समवयेर ईमेल के जरिए तेजी से फैल रहा है, जिसमें की आपका कंप्यूटर लॉक भी हो सकता है और उसे खोलने के लिये हैकर्स मोटी रकम मांगते हैं। आपको यह भी बता दें कि यह लॉकी रैन्समवेयर कई मायनों में WannaCry से भी खतरनाक है इसके लिये आपको काफी सावधानी बरतनी होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here