‘इंटेलेक्चुअल सूट’ जानिये कैसे मदद करेगा आपकी बीमारी पहचाने में

0
225
health
प्रतीकात्मक फोटो

आजकल अपनी सेहत पर ध्यान देना बहुत जरुरी हो गया है लेकिन इस व्यस्त जिंदगी में किसी के पास इतना समय नहीं है कि वह अपनी सेहत पर पूरी तरह से ध्यान दे सके। क्योंकि ज्यादातर ऐसा होता है कि कम ध्यान देने की वजह से हम कई भंयकार बीमारियों के शिकार हो सकते है। लेकिन यदि आप बीमारियों से भी बचना चाहते हैं और आपके पास ज्यादा समय भी नहीं है अपनी सेहत का ध्यान रखना का तो एक सूट आपकी मदद करेगा, जी हां एक सूट के जरिये आप अपनी सेहत का अच्छी तरह से ध्यान रख सकते हैं। इस सूट को नाम दिया गया है ‘इंटेलेक्चुअल सूटआइये जानते हैं यह सूट कैसे काम करेगा-

चीनी वैज्ञानिकों की एक टीम ने ‘इंटेलेक्चुअल सूट’ विकसित करने में सफलता पाई है, जो व्यक्ति के तापमान, पीएच लेवल, दबाव और अन्य स्वाथ्य संबंधी संकेतकों की जानकारी हासिल कर सकेंगा, देखा जाए तो नैनोटेक्नोलॉजी आज के आधुनिक युग में सबसे अधिक संभावनाओं वाला क्षेत्र हो गया है कंप्यूटिंग से लेकर मेडिकल साइंस तक में नैनोटेक्नोलॉजी ने अपनी पकड बना ली है, चीन में इसी विषय को लेकर नैनोएनर्जी और नैनोसिस्टम विषय पर अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस का आयोजन किया गया औऱ इस कांफ्रेंस में प्रदर्शित किए गए आविष्कार लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींच रहें थें, इन्हें आविष्कारों में से सबसे चर्चित रहा है इटेलेक्चुअल सूट।

एक चीनी न्यूज एजेंसी के मुताबिक इस आविष्कार को चीनी एकेडमी ऑफ साइंसेज़ के शिक्षाविद, वांग जोंगलिन ने बीजिंग में आयोजित नैनोएनर्जी और नैनोसिस्टम पर तीसरी अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में प्रस्तुत किया है, वांग के अनुसार,यह सूट वायरलेस ट्रांसमिशन के जरिए, हजारों मील दूर किसी सेलफोन, कम्प्यूटर या डॉकटर के कम्प्यूटर को भी संकेत भेज सकता है, जिससे किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर कभी भी निगरानी रखी जा सकती है।

जिंग इंस्टीट्यूट ऑफ नैनोएनर्जी और नौनोसिस्टम ने यह कांफ्रेंस आयोजित की है जो कि नैनोसाइंस और एनर्जी के क्षेत्र में सबसे अधिक प्रभावशाली कांफ्रेंस में से एक है। इस वर्ष इसमें नैनोजनेरेटर्सस्वचलित सेंसर्स और सिसटम्स, पीजोट्रोनिक्स पीजोफोटोट्रॉनिक्स उर्जा स्टोरेज, और स्वचलित पॉवर सिस्टम्स जैसे विषयों पर फोकस रखा गया, करीब 30 से भी अधिक देशों से आए 700 से भी ज्यादा वैज्ञानिकों ने इस काफ्रेंस में भाग लिया था।

इस सूट के जरिये लोग अफने सेहत पर ध्यान दे सकते हैं और यदि उनकों कोई गंभीर बीमारी भी है तो उसकी जानकारी सेलफोन, कम्प्यूटर या डॉकटर के कम्प्यूटर को भेज सकते हैं। जिससे संबधित व्यक्ति को इसकी तुरंत जानकारी मिल जायेगी और निगरानी भी रख सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here