एम 777 तोप का ट्रायल फ्लॉप….

0
132
M 777 FLOP
M 777 का पहला परीक्षण फ्लॉप

भारतीय सेना में शामिल होने जा रही एम 777 तोप की तैनाती को झटका लगा है। पोखरण में ट्रायल के दौरान तोप से गोला दागते ही तोप का गन बैरल फट गया। जिस वजह से इस तोप को सेना में शामिल करने की तैयारियों को एक झटका लगा है। आपको बता दें कि बोफोर्स तोप सौदे के लगभग तीन दशक बाद पहली बार अमेरिका से बनी किसी तोप को भारतीय सेना में शामिल किया जा रहा था, लेकिन नई तोप एम 777 ट्रायल के दौरान ही हादसे का शिकार हो गई है। सेना से मिली जानाकारी के अनुसार दो सिंतबर को जब राजस्थान के पोखरण फील्ड रेंड में इस गन का ट्रायल हो रहा था, तब यह हादसा हुआ। बोफोर्स तोप सौदे में दलाली के बाद अमेरिका से तोप खरीदते हुए हर सरकार ने कदम फूंक–फूंक कर रखा है। हालांकि हाल ही में जो तोप खरीदी गई है उसकी डिलीवरी अमेरिकी कंपनी बीएई से हुई है। माना जा रहा है कि आर्टिलिरी एफएमएस समझौते यानि कि फॉरेन मिलेट्री रुट के तहत मई महिने में ही दो तोंपे भारत लाई गई थी

एम 777 तोप की खासियतें।

  • ऑप्टिकल फायर कंट्रोल वाली हॉवित्ज़र से तक़रीबन 40 किलोमीटर दूर स्थित लक्ष्य पर सटीक निशाना साधा जा सकता है.
  • डिजिटल फायर कंट्रोल वाली यह तोप एक मिनट में पांच राउंड फायर करती है
  • 155 एमएम की हल्की हॉवित्ज़र सेना के लिए बेहद अहम है, क्योंकि इसको जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश जैसे पहाड़ी क्षेत्रों में आसानी से हेलीकॉप्टर से कहीं भी ले जाया जा सकता है।
  • सेना में माउंटेन स्ट्राइक कोर के गठन के बाद इस तोप की जरूरत और ज्यादा महसूस की जा रही थी।
  • होवित्जर 155 एमएम की अकेली ऐसी तोप है, जिसका वजन 4200 किलो से कम है।
  • बोर्फोस सौदे में दलाली का आरोप लगने पर देश में 155 एमएम की तोप बनाने की ऑर्डनेन्स फैक्ट्री बोर्ड की कोशिशें उतनी कामयाब नहीं रही हैं। ट्रायल के दौरान गन बैरल फटने की घटनाएं भी सामने आईं थी।
  • चीन की सीमा पर तैनाती करने से पड़ोसी मुल्क चीन को भी भारत की ताकत का अहसास होगा।आपको बता दें कि 1980 में स्वीडिश कंपनी से बोफोर्स तोंपें खरीदी गई थी । जिसके बाद इस सौदे की दलाली को लेकर तत्कालीन सरकार पर भ्रष्ट्राचार के कई गंभीर आरोप लगे थे। उसके बाद से भारतीय सेना ने कोई तोप नहीं खरीदी। हालांकि इसी बोफोर्स तोप के दम पर कारगिल युद्द के दौरान भारतीय सेना ने पाकिस्तान को पछाड़ा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here