क्या प्रभाव पडता है स्मार्टफोन का हमारी जिन्दगीं में

0
167
smartphones
स्मार्टफोन का यूज हर किसी की जरुरत बन गया है

आजकल मोबाइल फोन यानी स्मार्टफोन का यूज हर किसी की जरुरत बन गया है इसके बिना तो किसी की सुबह की शुरुआत ही नहीं होती, यदि आपने ध्यान दिया होगा तो आजकल फोन का इस्तेमाल हर कोई करता है लेकिन क्या आपको पता है कि सबसे पहले फोन की शुरुआत किसने की? सबसे पहले कमर्शियल तौर पर कब इस्तेमाल किया गया था, सबसे पहले मोबाइल का इस्तेमाल साल 1973 में मार्टिन कूपर ने किया था और 1984 में मोबाइल कमर्शियल तौर पर इस्तेमाल किया जाने लगा। फोन से स्मार्टफोन बनने का सफर इतना आसान नहीं था। पहला मोबाइल फोन Motorola का 1973 में John F. Mitchell और Martin Cooper ने पेश किया, जिसका वजन 2 किलो था, Motorola का DynaTAC 8000x Model व्यावसायिक रूप से 1983 में यूज किया गया था।

एक समय में फोन केवल अपने संदेशों को आदान प्रदान करने का जरिये था, यदि हम 90 के दौर पर नजर डाले तो उस समय में लेडलाइन फोन का बहुत चलन हुआ करता था, तब फोन किसी एक घर में हुआ करता था और उसका इस्तेमाल गली-मौहल्लें के लगभग सारे घर करते थें, वह भी केवल मात्र एक सूचना देने के लिए। और उस दौर में पीसीओ का चलन भी बहुत था क्योंकि तब मोबाइल फोन की पहुंच बहुत दूर थी, थोडें समय बाद पैजर का दौर आया क्योंकि यह एक तरह का मैसजिंग डिवाइस था, जिससे लोग मैसेज भेज सकते थे, तब मोबाइल बाजार में आ चुके थे लेकिन वह काफी मंहगे थे उनकों रखना हर किसी के बस की बात नहीं थी, क्योंकि कॅाल की दरें भी काफी मंहगी थी, लेकिन सन् 2000 में मोबाइल फोन का चलन थोडा शुरु हो गया, और फिर धीरुभाई अंबानी ने रिलायंस फोन को बाजार में उतारा, यह फोन केवल 500 रुपये में था और इसके बाद मोबाइल में एक तरह की क्रान्ति आने लगी, कलर मोबाइल फोन का चलन शुरु हुआ नोकिया, एल जी और अन्य कंपनियों ने अपने कई फोन बाजार में उतारें, धीरे धीर मोबाइल फोन कब स्मार्टफोन में बदल गया पता ही नहीं चला।

आज स्मार्टफोन में हर वह तकनीकी है जिसकी कभी कल्पना मात्र की गयी होगी। आज फोन में वह सारें फीचर हैं जिनके बिना हमारा दिन ही शुरु होता है, जिनका भी हमारी जिन्दगी अधूरी है। यदि आप किसी भी अपने करीबी का फोन कुछ ही समय के लिए रख लीजिये फिर उसकी बैचनी देखिये आप समझ जायेंगें कि स्मार्टफोन हमारी जिन्दगी की जरुरत है। हम लोग अपने परिवार के सदस्यों के बिना तो रह सकते हैं लेकिन अपने स्मार्टफोन के बिना रहना असंभव है।

मोबाइल के कुछ इंटरस्टिंग फेक्ट

पहला सिम कार्ड 1991 में Munich Smart Card Maker Giesecke & Devrient ने Finnish Wireless Network Operator के लिए बनाया था

1991 में 2G टेक्नोलॉजी Finland में Radiolinja ने शुरू की,और उसके पूरे 10 साल बाद 2001 में आया 3G जो जापान की कंपनी NTT DoCoMo ने शुरू किया था

1983 से 2014 तक लगभग 700 करोड़ Mobile Phone का उपयोग किया गया

2014 तक सबसे ज्यादा फ़ोन बनाने वाली कंपनी Samsung, Nokia, Apple और LG थी

दुनिया का सबसे महंगा फोन स्‍टॉट ह्यूज डायमंड रोज आईफोन 4 है जिसकी कीमत 7,850,000 डॉलर है। इस फोन में 100 कैरेट के 500 डायमंड लगे हुए हैं। फोन का बैक कवर में रोज गोल्‍ड का बना हुआ है जबकि एप्‍पल को लोगों 53 डायमंड का बना हुआ है।

पाॅजिटव इफेक्ट

स्मार्टफोन आज हर किसी की जरुरत बन गया है इससें हम कहीं भी कहीं भी कुछ भी कर सकते हैं सीख सकते हैं वीडियों कालिगं जैसी सुविधा ने हमारी जिन्दगीं को और भी आसान बना दिया है। साथ ही व्हाटसऐप और वी चेट और कई अन्य तरह के चेंटिग एप के जरिये हम कहीं भी किसी भी बात कर सकते है। आजकल बच्चें भी फोन का इस्तेमाल बहुत कर रहे हैं chuchutv जैसे सीखने वाले एप बच्चों के लिए काफी अच्छे हैं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाये गये एप से काफी कुछ आसानी हो गयी हेल्थ को लेकर भी काफी कुछ एप प्ले स्टोर मे हैं। स्मार्टफोन ने हमारी हर उन जरुरतों को आसान कर दिया है जो कभी हमारे लिए नामुकिन थी, चाहे ट्रैफिक का हाल जानना हो, कैब बुक करवानी हो अपने वजन पर कंट्रोल करना हो और भी जिन्दगी की छोटी- बडी जरुरत को अपडेट करने के लिए एक फोन ही काफी है।

नेगेटिव इफेक्ट

लेकिन जहां हम स्मार्टफोन पर इतना डिपेंड हो चुके हैं वहीं इसका जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल हमारे जीवन पर बुरा प्रभाव डाल रहा है, जिसका परिणाम ब्लू व्हेल गेम है जिसकी वजह से कई लोगों ने अपनी जान दी, जिसमें बच्चे भी शामिल थे। स्मार्टफोन का इस्तेमाल कभी-कभी हमारे लिए घातक हो सकता है।

बहुत से बच्चे कुछ ज्यादा ही फोन में लगे रहते हैं जिसका नतीजा यह होता है कि उनका मानसिक विकास सही से नहीं हो पाता है और वह तनावग्रस्त हो जाते हैं। देखा गया है कि बहुत से लोग फोन का बहुत गलत तरीके से इस्तेमाल करते हैं जिनका प्रभाव बहुत से लोगों पर पडता है

फिलहाल जो भी हो स्मार्टफोन का उतना ही इस्तेमाल करना चाहिए जो हमारे दिमाग और सेहत पर बुरा प्रभाव ना डालें। क्योंकि स्मार्टफोन आज हमारी पहली प्राथमिकता है इसका सही इस्तेमाल कीजिये और स्वस्थ रहिये।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here