जाने क्या है नाग मिसाइल

0
235
naag missile
नाग मिसाइल का सफलतापूर्वक परिक्षण

हाल ही में DRDO द्वारा राजस्थान में टैंक-भेदी मिसाइल “नाग” का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है।

नाग मिसाइल तीसरी पीढ़ी की “Fire and Forget” के सिद्धांत पर आधारित टैंक भेदी मिसाइल है। इसे भूमि या हवाई प्लेटफार्म से फायर किया जा सकता है । नाग मिसाइल  को इमेजिंग इन्फ्रारेड रडार (IRR) और इंटीग्रेटीड एवियोनिक्स तकनीक से लैस है किया गया है।

यह Integrated guided missile program के अंतर्गत विकसित की गई पांच प्रणालियों में से एक है, खास बात यह है कि अग्नि,आकाश,त्रिशूल और पृथ्वी मिसाइले इसी कार्यक्रम के तहत बनाई गई थी।

DRDO- रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन

यह एक सरकारी निकाय है, इसका लक्ष्य है विश्व-स्तरीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकीय आधार स्थापित कर भारत को समृद्ध बनाना और अपनी रक्षा सेना को अंतर्राष्ट्रीय रूप से प्रतिस्पर्धी प्रणालियों और समाधानों से लैसकर उन्हें निर्णायक लाभ प्रदान करना। इसके अलावा अपनी रक्षा सेवाओं के लिए अत्याधुनिक सेंसर, शस्त्र प्रणालियां, मंच और सहयोगी उपकरण अभिकल्पित करना, विकसित करना और उत्पादन के लिए तैयार करना। सैनिकों की बेहतरी को बढ़ावा देने के लिए रक्षा सेवाओं को तकनीकी समाधान प्रदान करना।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here